आख़िर क्यों आत्महत्या करने पर तुली है आम आदमी पार्टी?