लोकतंत्र को खोखला करने की सोची समझी साज़िश का हिस्सा है मीडिया का सनसनीख़ेज़ तेवर!
Latest Article

लोकतंत्र को खोखला करने की सोची समझी साज़िश का हिस्सा है मीडिया का सनसनीख़ेज़ तेवर!

Author: Nilanjay Tiwari calender  10 Dec 2018

लोकतंत्र को खोखला करने की सोची समझी साज़िश का हिस्सा है मीडिया का सनसनीख़ेज़ तेवर!

अभी तक समाचार चैंनलों पर मोदी जी क्या बोल रहे हैं, सचिन सीएम बनेंगे या अशोक गहलोत, राहुल गांधी का गोत्र क्या है इन सब पर चर्चा हो रही थी। चुनाव खत्म हुआ तो ये लगा कि चलो अब टीवी पर किसानों को प्याज के सही दाम नहीं मिल रहे, उत्तरप्रदेश में लगातार हिंसक घटनाएं बढ़ रही हैं, बेरोजगार युवाओं आदि की बात होगी, लेकिन नहीं। अगर ऐसा आप सोच रहे थे तो लगता है अपने न्यूज़ चैंनलों को ठीक से समझ नही पाएं। क्योंकि ये कॉर्पोरेट सेक्टर है यहां हर चीज की बारीकी से प्लानिंग होती है कब क्या दिखाना है और कैसे पैसा कमाना है। लेकिन इस बार मार्केट में कुछ नया आया है। जिसके बारे में पढ़कर आपके होश भी उड़ सकते हैं। एक दफा तो आप ये भी सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि "आखिर किस स्तर तक ये समाचार चैंनल आपको टोपी पहना रहे हैं" आखिर किस स्तर तक ?

7 तारीख को सारे राज्यों में मतदान की प्रकिया पूरी हो गयी। बड़े नेता अब वापस से एक बार फिर दिल्ली पहुचने लगे हैं, छोटे वाले अपने अपने नेताओं के नारे खुद ही लगा रहे हैं और वे खुद एक "Exit poll" बनकर उभर रहे हैं (छोटे स्तर पर)। तो वहीं प्रवक्ताओं की जिम्मेदारी अभी खत्म नही हुई बल्कि चुनाव बाद और  बढ़ गई है। हर चैनल अपने एग्जिट पोल निकाल रहा है हर बार की तरह कहीं कांग्रेस तो कहीं भाजपा को बहुत दिया जा रहा है। अब आप कहेंगे इसमें नई बात क्या है "ये तो हर बार होता है" लेकिन इस बार "Republic TV"  ने मार्केट में कुछ नया कर दिखाया है, इसे बाकी चैंनलों द्वारा जल्द ही अपनाया जाएगा। सच मानिए मार्किट में कुछ नया आया है और कुछ ऐसा आया है जिससे चुनाव परिणाम कुछ भी आए लेकिन आप ताल ठोक कर कह सकते हैं कि आपका "Exit Poll" एकदम सही है। अब वो क्या तरीका है आप गौर करिएगा।

Republic TV ने इस बार चुनाव परिणाम को लेकर सर्वे करवाए, अब मैं "करवाए" क्यों बोल रहा हूँ ये भी आप जान जाएंगे। क्योंकि रिपब्लिक टीवी इस बार अपने चैंनल पर दो सर्वे दिखा रही है।

पहला सर्वे क्या कहता है ?

"रिपब्लिक टीवी और सी वोटर* सर्वे के मुताबिक मध्यप्रदेश में भाजपा को 90-106 सीटें मिलेंगी साफ है कि भाजपा की सरकार नही बनेगी। वही कांग्रेस को 110-126 सीटें मिल रही है। कांग्रेस सरकार बना सकती है अगर अधिकतम सीटें आ गयी तो।

दूसरा सर्वे

"रिपब्लिक टीवी और जन की बात" के मुताबिक मध्य प्रदेश में भाजपा को 108-128 सीटें मिल सकती हैं। मतलब अधिकतम सीटें आने पर भाजपा सरकार बना सकती है। वही कांग्रेस को 95-115 सीटें मिल सकती हैं। साफ जाहिर है कि कांग्रेस  अधिकतम सीटों की संख्या से एक सीट कम रह जाएगी।

अब आप देख ही रहे है। किस प्रकार ये चैनल वाले कुछ भी चलाकर बस बहती गंगा में हाथ धो रहे हैं। एक सर्वे में भाजपा को तो एक मे कांग्रेस को बहुत मिलता दिखा रहे हैं। जनता से ज्यादा पार्टी के ठेकेदारों (प्रवक्ताओं) की मुश्किलें बढ़ गयी हैं। अब 5-6 में कांग्रेस वाला चिल्ला चिल्लाकर बोलेगा "पाप का घड़ा भर गया है, अब जनता की सरकार आएगी" तो 6-7बजे के दौरान उसी चैंनल पर भाजपा वाला "माननीय नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व और उनके द्वारा किए गए विकास" का बखान करेगा। हालांकि रिपब्लिक टीवी दोनों पार्टी के प्रवक्ताओं को बारी बारी बोलने का मौका देगी, यह देख अच्छा लग रहा है। क्योंकि अक्सर लोगों को आधे में ही भगा दिया जाता है।

कुछ ऐसा खेल है "Exit Poll" का की इसने बेरोजगारी, फसल बीमा योजना में लूट, बढ़ती महंगाई, बदहाल शिक्षा व्यवस्था जैसे मुद्दों को टीवी से "Exit" का रास्ता दिखा दिया है। इस समय मुद्दों की लिस्ट में "राम जन्मभूमि", हिन्दू-मुस्लिम, कश्मीर, गौ हत्या से बड़ा मुद्दा बनकर उभरा है। आज कल इसी के सहारे गल्ला भरा जा रहा है। मजलूमों, नीचले तबकों, किसानों व युवाओं के मुद्दे उठाने के बजाए ये चैंनल बेहूदा और उलूल जुलूल चीजों को दिखाने में ज्यादा विश्वास रखते हैं। अगर आप चाहते हैं कि चैंनलों पर आपकी बात हो और आपके मुद्दे उठाए जाएं तो कृपया आप टीवी देखना कम दीजिए। सूचना व जानकारी के लिए किताब व पेपर पढ़िए। वरना ये चैंनल दिन ब दिन इन्हीं खबरों से समाज व लोकतंत्र को बीमार करते रहेंगे। जंतरमंतर पर धरना दे रहे किसानों की आवाज किसी तक नहीं पहुंचेगी लेकिन "हमें चाहिए आज़ादी" सबको सुनाई दे जाएगी !!

अंतर समझिए कि कौन आपको अंदर से खोखला कर रहा और कौन आपसे आपका हक छीन रहा है। जो बचा खुचा लोकतंत्र है उसको शहीद मत होने दीजिए। सावधान हो जाइए वरना ये कुछ लोग धीरे धीरे आपकी आज़ादी आपसे छीन लेंगे।

MOLITICS SURVEY

महाराष्ट्र में अगर शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन की सरकार बनती है तो क्या उसका हाल भी कर्नाटक जैसा होगा ?

TOTAL RESPONSES : 34

Caricatures
See more 
Political-Cartoon,Funny Political Cartoon
Political-Cartoon,Funny Political Cartoon

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know