बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ - नारा या चेतावनी!
Latest Article

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ - नारा या चेतावनी!

Author: Neeraj Jha   13 Apr 2018

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ - नारा या चेतावनी!

न्यू इंडिया - बहुत चर्चा होती थी इस न्यू इंडिया की। लेकिन इतना घिनौना चेहरा निकल कर सामने आ रहा है, कि देखा नहीं जाता। न्यू इंडिया, लड़कियों को एक माँस के लोथड़े और योनि के अलावा कुछ और नहीं समझता। कठुआ में 8 साल की लड़की के साथ देवस्थान में 6 दिनों तक लगातार कई बार, कई लोगों द्वारा किया गया रेप हो या उत्तर प्रदेश में एक विधायक द्वारा एक लड़की का रेप और बाद में उसके भाई द्वारा लड़की के पिता की मार मार कर की गई हत्या हो - अपराध 56 इंची के सीने के साथ इंसानियत को मुँह चिढ़ा रहा है।

योगी आदित्यनाथ ने जब यूपी की सत्ताु संभाली तो उनके प्रशंसकों ने कहा कि राज्य में रामराज्य आएगा। लेकिन प्रदेश में कुछ आयी तो अपराधों की बाढ़ और अपराधियों की मौज। एक विधायक पर आरोप लगा एक लड़की के रेप का। लड़की न्याय की गुहार लगाती रही और पुलिस कदम कदम पर लापरवाही बरतती रही, जैसा कि जाँच करने वाली कमेटी ने बताया। लड़की ने दो बार सीएम ऑफिस के सामने खुद को जलाने का प्रयास किया। इसके बाद मीडिया और प्रशासन का ध्यान इस केस की तरफ गया।बाद में लड़की के पिता के साथ विधायक सेंगर ने मारपीट की साज़िश रची और उसके भाई ने मारपीट की। जब रिपोर्ट करने गए तो पुलिस ने आरोपियों की जगह शिकायतकर्ता को ही गिरफ्तार कर लिया। बाद में पुलिस कस्टडी में लड़की के पिता की मौत हो गयी। लड़की सीएम आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाती रही। आदित्यनाथ ने मामले को तूल पकड़ता देख SIT गठित की। इस पूरे मामले पर बलिया के बैरिया यूपी के ही एक विधायक ने मर्दानगी से भरपूर बयान दिया। विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि तीन तीन बच्चों की माँ के साथ कौन बलात्कार करता है। - ये है आपके चुने हुए प्रतिनिधियों की सोच। खैर, बीजेपी की ही एक प्रवक्ता ने अमित शाह से यूपी को बचाने की गुहार की है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा - आदरणीय भाई @AmitShah जी उत्तर प्रदेश को बचा लीजिए, सरकार के निर्णय शर्मसार कर रहे हैं। ये कलंक नहीं धुलेंगे। आदरणीय भाई @narendramodi जी और आपके साथ हम सबके सपने चूर चूर होंगे।

वहीं जम्मु कश्मीर में एक 8 साल की बच्ची के साथ 6 लोगों द्वारा 6-7 दिनों तक लगातार बलात्कार करने का मामला सामने आया है। बलात्कार सोची समझी साज़िश के तहत किया गया। बलात्कार की साज़िश रचने वाला व्यक्ति राजस्व विभाग का पूर्व कर्मचारी सांझी राम है। सांझी राम ने इस घिनौने काम में अपने बेटे और भतीजे को भी शामिल किया। बाद में उसके भतीजे ने अपने एक दोस्त को भी हवस मिटाने का लालच देकर मेरठ से बुलवाया। इस कृत्य में पुलिसवालों की भी भागीदारी थी। कई दिनों तक रेप करने के बाद पत्थर पर पटककर उस लड़की की हत्या की गई और लड़की के मर जाने के बाद फिर से उसका रेप किया गया वो भी एक पुलिसवाले के द्वारा। जब पुलिस पूरे मामले में चार्जशीट दायर करने गई तो वकीलों की भीड़ ने उसका रास्ता रोक दिया। भारत माँ की जय और जय श्रीराम के नारे लगाए गए। वकीलों का कहना था कि उन्हें पुलिस पर भरोसा नहीं। बीजेपी के भी दो विधायकों ने ये बात कही। लेकिन जम्मु में पुलिस प्रशासन भी तो बीजेपी के गठबंधन सरकार के ही अंदर है। कौन ज़िम्मेदार है पुलिस की इस अविश्वसनीयता का।

मोदी जी, जब आपने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ बोला था तो ये भी बता देते कि यह केवल एक नारी नहीं बल्कि एक धमकी थी, जिसका केवल आधा हिस्सा वो भी शुरु वाला सुना और समझा जाना चाहिए था। जब आपने राम राज्य की बात की तो पहले ही बताना चाहिए था कि आपके लोग जिस राम को मानते हैं उस राम का चरित्र आम लोगों के राम से विपरीत है। जब आप भाषण दिया करते थे तो यह भी बता देते कि आपके भाषण केवल पार्टी और आपकी मार्केटिंग के लिए होते हैं। देश और समाज के मुद्दों पर आप महामौनी हो जाया करते हैं। गाँधी के चंपारण में स्वच्छाग्रह करने वाले प्रधानसेवक जी, अपने विधायकों नेताओं और मंत्रियों के मन की मलिनताओं को साफ करिए पहले। आप हत्यारे हैं - लाखों उम्मीदों के, करोड़ों विश्वासों के। जिन्हें आज नहीं लगता 10 साल बाद उन्हें भी पता लग जाएगा।

MOLITICS SURVEY

क्या लोकसभा चुनाव 2019 में नेता विकास के मुद्दों की जगह आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति कर रहे हैं ??

हाँ
नहीं
अनिश्चित

TOTAL RESPONSES : 31

Caricatures
See more 
Political-Cartoon,Funny Political Cartoon
Political-Cartoon,Funny Political Cartoon

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know